UP By Election Result 2022: रामपुर और आजमगढ़ में बीजेपी की जीत महत्वपूर्ण है क्योंकि ये पहले सपा के दिग्गज आजम खान और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के पास थी.

UP By Election Result 2022: उत्तर प्रदेश की दो लोकसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा ने जीत का परचम लहराया है. गौर करने वाली बात यह है कि दोनों लोकसभा क्षेत्र रामपुर और आजमगढ़ में लंबे समय से समाजवादी पार्टी की मजबूत पकड़ थी. लेकिन इन चुनावी नतीजों ने कहीं न कहीं साबित कर दिया है कि इन क्षेत्रों में सपा की पकड़ कमजोर हुई है. आइये आपको बताते हैं जीत पर पीएम मोदी और सीएम योगी ने क्या कहा.

यूपी उपचुनाव में भाजपा की शानदार जीत

सत्तारूढ़ भाजपा के उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी से दो लोकसभा सीटों पर कब्जा करने के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहा कि लोगों ने एक संदेश भेजा है कि वे वंशवादी और जातिवादी दलों को स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं हैं, जो सांप्रदायिक तनाव को भड़काते हैं.सीएम योगी ने कहा कि भाजपा की ‘डबल इंजन सरकार’ केंद्र और राज्य में एक ही पार्टी की सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राज्य में ‘दोहरी जीत’ हासिल की है.

जीत पर क्या बोले सीएम योगी

प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए आदित्यनाथ ने घोषणा की कि भाजपा उम्मीदवार घनश्याम लोधी रामपुर से और दिनेश लाल यादव निरहुआ आजमगढ़ से जीते हैं. सीएम योगी ने कहा कि उपचुनावों के नतीजों ने 2024 के आम चुनावों के नतीजे का संकेत दिया है. उत्तर प्रदेश में उपचुनाव समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव और पार्टी नेता आजम खान के क्रमशः आजमगढ़ और रामपुर सीटों से इस्तीफे के कारण हुए थे.

भाजपा की जीत ‘ऐतिहासिक’: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को आजमगढ़ और रामपुर में लोकसभा उपचुनावों में भाजपा की जीत की सराहना करते हुए कहा कि यह केंद्र और उत्तर प्रदेश में ‘डबल इंजन’ सरकारों के लिए व्यापक पैमाने पर स्वीकृति और समर्थन का संकेत देता है. पीएम मोदी ने यूपी के भाजपा कार्यकर्ताओं की प्रशंसा करते हुए कहा, ‘हमारी सरकार लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करना जारी रखेगी. मैं अपने कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत की सराहना करता हूं हम लोगों के बीच काम करते रहेंगे और जनकल्याण के मुद्दे उठाते रहेंगे.’

बीजेपी की जीत महत्वपूर्ण

पार्टी के लिए मुश्किल मानी जाने वाली रामपुर और आजमगढ़ में बीजेपी की जीत महत्वपूर्ण है क्योंकि ये पहले समाजवादी पार्टी के दिग्गज आजम खान और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के पास थी. दोनों नेताओं ने राज्य विधानसभा के लिए चुने जाने के बाद इस्तीफा दे दिया था.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.