UK NEWS: हिंसा सबसे पहले 28 अगस्त को शुरू हुई थी, जब भारत ने एशिया कप 2022 में पाकिस्तान के खिलाफ मैच जीता था, जिसके बाद मेल्टन रोड, बेलग्रेव में लड़ाई छिड़ गई, जिसमें अब तक 27 गिरफ्तारियां हुईं.

Leicester violence: लंदन (London) में भारतीय उच्चायोग (High Commission of India) ने लीसेस्टर (Leicester) में भारतीय समुदाय (Indian community) के खिलाफ हुई हिंसा की निंदा की और हमलों में शामिल लोगों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की.  उच्चायोग (High Commission) ने सोमवार को एक बयान जारी कर कहा कि उसने इस मामले को ब्रिटेन (UK) के अधिकारियों के समक्ष उठाया है. बता दें भारत द्वारा पाकिस्तान के खिलाफ एशिया कप टी20 मैच जीतने के बाद 28 अगस्त को हिंसा का सिलसिला शुरू हो गया था.

भारतीय उच्चायोग ने अपने में बयान में कहा, “हम लीसेस्टर में भारतीय समुदाय के खिलाफ हुई हिंसा और हिंदू धर्म के प्रतीकों और परिसर की तोड़फोड़ की कड़ी निंदा करते हैं. हमने ब्रिटेन के अधिकारियों के साथ इस मामले को मजबूती से उठाया है और इन हमलों में शामिल लोगों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की है. हम अधिकारियों से प्रभावित लोगों को सुरक्षा प्रदान करने का आह्वान करते हैं.”

रविवार को लीसेस्टरशायर में हुई युवकों में झड़प
पुलिस के बयान के अनुसार, रविवार को लीसेस्टरशायर (Leicestershire) में युवकों के समूहों के बीच झड़प हो गई. इस मामले में अब तक कम से कम 15 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. यह हिंसा विभिन्न वीडियो और रिपोर्ट के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद हुई, जिनमें ब्रिटेन के लीसेस्टर शहर में हिंदुओं पर बर्बरता और उन्हें आतंकित करते हुए पाकिस्तानी संगठित गिरोहों को दिखाया गया था.

ब्रिटेन स्थित मीडिया प्रकाशन लीसेस्टर मर्करी के अनुसार, हिंसा सबसे पहले 28 अगस्त को शुरू हुई थी, जब भारत ने एशिया कप 2022 में पाकिस्तान के खिलाफ मैच जीता था, जिसके बाद मेल्टन रोड, बेलग्रेव में लड़ाई छिड़ गई, जिसमें अब तक 27 गिरफ्तारियां हुईं.

शनिवार को लीसेस्टर की सड़कों पर फैली अव्यवस्था
शनिवार रात को झड़प की रिपोर्ट के बाद, लीसेस्टरशायर पुलिस के अस्थायी मुख्य कांस्टेबल रॉब निक्सन ने ट्विटर हैंडल पर साझा किए गए एक वीडियो मैसेज में कहा, “हमें आज रात (शनिवार, 17 सितंबर) लीसेस्टर की सड़कों पर अव्यवस्था की कई रिपोर्टें मिली हैं. वहां अधिकारी मौजूद हैं,  हम स्थिति को नियंत्रित कर रहे हैं, रास्ते में अतिरिक्त अधिकारी हैं जिन्हें तितर-बितर करने की शक्तियां, अधिकृत कर दी गई हैं. कृपया अव्यवस्था में शामिल न हों. हम शांति का आह्वान कर रहे हैं.”

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.