Russia-Ukraine War: ब्रिटिश रक्षा मंत्री बेन वालेस ने कहा कि ब्रिटेन यूक्रेन को एम270 लॉन्चर देगा, जो 80 किलोमीटर (50 मील) तक सटीक-निर्देशित रॉकेट दाग सकते हैं.

Russia-Ukraine War: ब्रिटेन ने रूसी विमानों और तोपों को निशाना बनाने के लिये यूक्रेन को मध्यम दूरी की परिष्कृत रॉकेट प्रणाली देने का बृहस्पतिवार को वादा किया. इससे पहले अमेरिका और जर्मनी भी यूक्रेन को परिष्कृत हथियार दे चुके हैं. पश्चिमी हथियार यूक्रेन की सफलता के लिए महत्वपूर्ण रहे हैं, जो रूस की बड़ी और बेहतर सुसज्जित सेना के साथ युद्ध के 99वें दिन भी उसे मुकाबले में बनाए हुए हैं.

रूस ने यूक्रेन पर हमला तेज किया

हाल के दिनों में एक प्रमुख यूक्रेनी शहर की रूसी सैनिकों द्वारा बढ़ती घेराबंदी के बीच यूक्रेनी सरकार ने कहा कि उसके सैनिकों को जीतने के लिए बेहतर रॉकेट लॉन्चरों की जरूरत है. रूसी सेना ने कस्बों और शहरों पर बमबारी जारी रखी और पूर्वी शहर सिविएरोडोनेट्सक पर अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए भी हमले तेज कर दिए हैं. ब्रिटिश रक्षा मंत्रालय ने बताया कि रूस ने शहर के अधिकांश इलाकों पर कब्जा कर लिया है. यह शहर लुहान्स्क प्रांत के उन दो शहरों में से एक है जो अब तक यूक्रेनी नियंत्रण में था. 

ब्रिटेन ने निभाया वादा

ब्रिटिश रक्षा मंत्री बेन वालेस ने कहा कि ब्रिटेन यूक्रेन को एम270 लॉन्चर देगा, जो 80 किलोमीटर (50 मील) तक सटीक-निर्देशित रॉकेट दाग सकते हैं. हालांकि उन्होंने यूक्रेन को दिए जाने वाले लॉन्चर की संख्या के बारे में नहीं बताया. उन्होंने कहा कि यूक्रेन के सैनिकों को उपकरणों का इस्तेमाल करने के लिए ब्रिटेन में प्रशिक्षित किया जाएगा. ब्रिटिश सरकार का कहना है कि लॉन्चर प्रदान करने का निर्णय अमेरिकी सरकार के साथ मिलकर समन्वित रूप से लिया गया है.

अमेरिका भी दे रहा ब्रिटेन का साथ

अमेरिका ने बुधवार को कहा था कि वह यूक्रेन को ‘हाई मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम’ की आपूर्ति करेगा. इस बीच यूक्रेन में एक नयी अमेरिकी राजदूत की औपचारिक नियुक्ति के साथ कीव राजनयिक स्तर पर भी और मजबूत हुआ है. अमेरिकी राजदूत ब्रिजेट ब्रिंक बृहस्पतिवार को राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की को अपना परिचय पत्र सौंपने वाली हैं. ब्रिंक हाल में कीव में वाशिंगटन की पहली राजदूत होंगी क्योंकि पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 2019 में तत्कालीन राजदूत मैरी योवानोविच को अचानक वहां से वापस बुला लिया था. बाद में ट्रंप के खिलाफ पहली महाभियोग कार्यवाही में उनकी अहम भूमिका रही.

You May Like

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed