जयपुर/अरुण हर्ष: राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक आरटीआई कार्यकर्ता (RTI Activist) को शराब माफियाओं के खिलाफ शिकायत करना और ग्राम पंचायत में आरटीआई के तहत सूचना मांगना भारी पड़ गया. कुछ अज्ञात बदमाशों ने हमला कर आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम गोदारा के पैरों में कील ठोक दी, जिसका जोधपुर के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है.

आरटीआई कार्यकर्ता की शिकायत पर हुई थी कार्रवाई

आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम गोदारा ने शराब माफियाओं की 2 दिन पहले ही शिकायत की थी, जिस पर पुलिस ने कार्यवाही की थी. जानकारी के अनुसार आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम लगातार अवैध शराब माफियाओं के खिलाफ पुलिस को जानकारी दे रहा था. इसके अलावा उन्होंने कुछ समय पहले ही पंचायती राज विभाग में गड़बड़ियों एवं अवैध शराब माफिया को लेकर शिकायत कर कार्यवाही करने की मांग की थी.

बदमाशों ने तोड़ दिए आरटीआई कार्यकर्ता के हाथ-पैर

पश्चिमी राजस्थान के बाड़मेर जिले के गिड़ा थाना इलाके में बीती रात आरटीआई कार्यकर्ता अमराराम का बदमाशों ने अपहरण करने के बाद जबरदस्त तरीके से पिटाई कर हाथ पांव तोड़ कर अधमरा कर गांव के पास सड़क किनारे फेंक दिया. बदमाशों ने अमराराम के पैरों में कील भी ठोक दी. आरटीआई एक्टिविस्ट अमराराम ने बताया कि जोधपुर से वापस आने के दौरान गांव में उसका अपहरण करके कुछ लोगों ने उसके साथ मारपीट कर की.

By Live

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *