PM Modi Security Protocol: पीएम मोदी जनता के दिलों से सीधे जुड़ने की कोशिश करते हैं. मुलाकात हो या फोन पर बात, पीएम मोदी के साथ होने वाले संवाद के अनुभव को भुला पाना आसान नहीं होता है. ऐसे में अब बात करते हैं कि क्या होता है जब पीएम मोदी किसी को फोन करते हैं. 

How to contact PM Modi: कभी सोचा है कि अगर आपको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का फोन आ जाए तो कैसे पहचानेंगे कि खुद पीएम मोदी ही बोल रहे हैं या उनका कोई रिकॉर्डेड मैसेज है या फिर उनकी आवाज की मिमिक्री को नहीं कर रहा है. यहां ये बात इसलिए क्योंकि इंटरनेट से होने वाली धोखाधड़ी के मामलों में अक्सर लोग प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) या वित्त मंत्रालय (FMO) से जुड़े होने का दावा कर लोगों को ठग लेते हैं. 

पीएमओ से फोन आएगा तो कैसे आएगा?

ज्‍यादातर मामलों में ठगों ने अपना नंबर कॉन्‍टैक्‍ट ऐप्‍स में Prime Minister’s Office या PMO के नाम से सेव किया था. ऐसे में आपको यह बताना बेहद जरूरी है कि अगर किसी भी वजह से आपके पास प्रधानमंत्री दफ्तर से कॉल आएगा तो वह ऑफिशियल फोन से आएगा. वहीं बात पीएम मोदी के मोबाइल नंबर की करें तो उनका पर्सनल फोन नंबर क्‍या है, इसकी खबर बस कुछ गिने चुने लोगों को है. पीएम उन्‍हें भी जब फोन करते हैं तो कॉलर आईडी नहीं दिखती है. ऐसे में कई बार उनकी कैबिनेट के साथी भी चौंक जाते हैं. 

विदेश मंत्री ने सुनाया वाकया

ऐसा ही एक वाकया सुनाया विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने. बात पिछले साल की है जब अफगानिस्‍तान में तालिबान की सरकार आने से अफरातफरी का माहौल था. उसी दौरान जयशंकर भारतीयों को सुरक्षित लाने के मिशन पर थे. तभी एक दिन आधी रात बीतने के बाद अचानक उनके फोन की घंटी तो बजी तो स्‍क्रीन पर कोई नंबर डिस्प्ले नहीं हो रहा था. फोन उठाया तो पीएम मोदी की आवाज आई. PM मोदी ने पूछा, ‘जागे हो?’ तोजयशंकर ने कहा, हां सर. अभी तो 12.30 बजा है. आगे पीएम ने पूछा कि क्‍या चल रहा है वहां?’ जवाब में जयशंकर ने कहा कि मैंने उन्हें कुछ अपडेट दिया, तब वो बोले कि ‘खत्‍म हो जाएगा तो फोन करना.’

पीएम मोदी का फोन आता है तो क्‍या दिखता है?

पीएम मोदी हों या देश के किसी भी जिम्मेदार पद पर बैठी कोई हस्ती, उनके मोबाइल नंबर जैसी निजी जानकारी सार्वजनिक होना देश की राष्‍ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा पैदा कर सकता है. इसीलिए पीएम मोदी के मोबाइल नंबर की कॉलर आईडी ‘हिडेन’ यानी छिपी हुई रखी जाती है. कॉलर आईडी डिसेबल करने का जिम्‍मा संबंधित मोबाइल ऑपरेटर का होता है. मतलब यह कि अगर अभी आपको पीएम मोदी का फोन आया तो स्‍क्रीन पर नंबर नहीं दिखेगा. वहां Private Number से लेकर Restricted Caller ID तक लिखा कुछ भी दिखाई पड़ सकता है.

अच्छे संवाद की खासियत ये भी होती है कि वो परस्पर दोनों पक्षों की ओर से होता है. ऐसे में अगर पीएम मोदी का फोन आपके पास नहीं आता और आप अपनी कोई बात या अच्छे काम की जानकारी उन तक पहुंचाना चाहते हैं तो इसके कई तरीके हैं. इनमें से किसी का भी इस्‍तेमाल करके आप पीएम तक अपनी बात पहुंचा सकते हैं.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.