Independence Day 2022: स्वतंत्रता दिवस समारोह के मद्देनजर लालकिले के प्रवेश द्वार पर बहुस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाए जाने के अलावा चेहरे की पहचान प्रणाली (एफआरएस) वाले कैमरे लगाए गए हैं.

Azadi Ka Amrit Mahotsav: भारत अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस अमृत महोत्सव के रूप में मना रहा है. सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कई कार्यक्रम हैं. मुख्य कार्यक्रमों में ‘तिरंगा’ फहराने के बाद पीएम मोदी सुबह 7:30 बजे लाल किले से देश को संबोधित करेंगे. जिसके बाद स्वतंत्रता दिवस परेड होगी. खुफिया एजेंसियों के अलर्ट के बाद लाल किले पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. हर आने-जाने वालों पर नजर रखने के लिए 1000 से ज्यादा कैमरे लगाए गए हैं. वहीं, लाल किले और परिसर के आसपास 10 हजार पुलिसकर्मियों की तैनाती भी की गई है. 

पीएम मोदी का पूरा कार्यक्रम

इस साल पीएम मोदी 15 अगस्त 2022 को लगातार 9वां स्वतंत्रता दिवस भाषण देंगे. भारत की 75 वीं जयंती को ऐतिहासिक बनाने के लिए सरकार ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मना रही है. हर साल की तरह दिल्ली पुलिस और सशस्त्र बलों द्वारा प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा फिर राष्ट्रगान के बाद तिरंगा फहराया जाएगा और 21 तोपों की औपचारिक सलामी दी जाएगी. इस बार 21 तोपों की सलामी स्वदेशी रूप से निर्मित और डिजाइन की गई उन्नत टोड आर्टिलरी गन सिस्टम (एटीएजीएस) द्वारा दी जाएगी. इसके कुछ देर बाद पीएम मोदी राष्ट्र को संबोधित करेंगे.

कहां देखें पीएम मोदी का लाइव भाषण और परेड?

पीएम मोदी के भाषण और परेड को दूरदर्शन और संसद टीवी पर देखा जा सकता है. पीएम मोदी के भाषण और परेड का डीडी न्यूज और संसद टीवी के यूट्यूब चैनलों पर भी सीधा प्रसारण किया जाएगा. इनके अलावा, ऑल इंडिया रेडियो अपने रेडियो और यूट्यूब चैनलों पर भाषण की मेजबानी करेगा. प्रेस सूचना ब्यूरो (पीआईबी) के यूट्यूब चैनल और इसके आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भी पीएम मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन का सीधा प्रसारण किया जाएगा. पीएम मोदी के भाषण की लाइव स्ट्रीमिंग के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) और समाचार एजेंसी एएनआई के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भी जा सकते हैं.

लाल किले पर 10 हजार पुलिसकर्मी तैनात

लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस समारोह में कम से कम 7,000 आमंत्रित लोग शामिल होंगे. लाल किले और परिसर से के आसपास सुरक्षा के लिए लगभग 10,000 पुलिसकर्मियों की भारी तैनाती होगी. लाल किले के प्रवेश बिंदुओं पर चेहरे की पहचान प्रणाली (FRS) कैमरों सहित हाई-टेक बहुस्तरीय सुरक्षा प्रणालियां होंगी.

दिल्ली की 8 सीमाओं पर कड़ी सुरक्षा

दिल्ली की सभी आठ सीमाओं के साथ-साथ शहर के व्यस्त बाजारों में सुरक्षा और सतर्कता कड़ी कर दी है, लाल किले के पास सुरक्षा के कई स्तरों के साथ सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है. अंतर्राष्ट्रीय सीमा न केवल विशिष्ट हैं बल्कि काफी मजबूत मानी जाती हैं. स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में सुरक्षा बढ़ाने के लिए पुलिस कर्मियों ने ड्रोन हमलों से सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ड्रोन रोधी प्रणाली तैनात की है.

ड्रोन हमले को लेकर अलर्ट

लाल किले पर ड्रोन से सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक रडार प्रणाली तैयार की गई है. पुलिस ने कहा कि पुलिसकर्मियों को आसमान में उड़ने वाली संदिग्ध वस्तुओं का मुकाबला करने के तरीके भी सिखाए गए हैं.

आतंकी हमले को लेकर हाई अलर्ट

पंजाब समेत अलग-अलग राज्यों से पकड़े गए आतंकियों से पूछताछ के आधार पर खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षा को लेकर हाई अलर्ट जारी किया है. एक अन्य अलर्ट में यह खुलासा हुआ कि पाकिस्तान से ड्रोन की मदद से पिस्टल, हैंड ग्रेनेड और एके 47 सहित घातक हथियार भारत भेजे गए हैं. पुलिस ने आगे खुफिया बलों के हवाले से कहा कि आतंकवादी स्वतंत्रता दिवस पर कई लोन वुल्फ हमलों को भी अंजाम दे सकते हैं. हमले में एक अकेला व्यक्ति धारदार हथियार या किसी बड़े वाहन से भीड़ पर हमला कर सकता है.

लाल किले के आसपास पतंग बैन

एजेंसियों द्वारा पुलिस को पतंग जैसी उड़ने वाली वस्तु के माध्यम से कुछ आतंकवादी हमले के बारे में अलर्ट जारी किए जाने के बाद पुलिस ने लाल किले के चारों ओर पतंग उड़ाने (जब तक स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम जारी है) पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है. पुलिस को बहुत मजबूत स्क्रीनिंग सुनिश्चित करने की सलाह दी गई है. खुफिया एजेंसियों ने पुलिस को बताया, ‘आतंकवादी संगठन एसएफजे, जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम), आईएसआईएस खुरासान मॉड्यूल 15 अगस्त के दौरान बड़े हमले की योजना बना रहे हैं.’

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed