IPL: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के 2024 से शुरू होने वाले आगामी भविष्य दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) में आईपीएल के लिए विशेष रूप से ढाई महीने के समय का प्रावधान है और इस दौरान कोई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट निर्धारित नहीं है.

IPL: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के 2024 से शुरू होने वाले आगामी भविष्य दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) में आईपीएल के लिए विशेष रूप से ढाई महीने के समय का प्रावधान है और इस दौरान कोई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट निर्धारित नहीं है. पिछले महीने आईपीएल मीडिया अधिकार करार से इतर बीसीसीआई सचिव जय शाह ने पीटीआई-भाषा को दिये एक विशेष साक्षात्कार में पुष्टि की थी कि अगले एफटीपी में चकाचौंध से भरे इस टी20 लीग के लिए ढाई महीने के समय का प्रावधान होगा.

आईपीएल को मिलेगी अलग विंडो

‘ईएसपीएन क्रिकइंफो’ की रिपोर्ट के अनुसार, आईसीसी के मसौदे में आईपीएल के लिए दो सप्ताह अधिक का समय है. पहले यह मार्च के आखिर से मई के आखिर तक चलता था लेकिन अब दो सप्ताह के विस्तार के साथ यह जून तक चलेगा. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) हालांकि इसका विरोध करेगा क्योंकि उसके खिलाड़ी इस लीग से प्रतिबंधित है. रमीज राजा को हालांकि आईसीसी के अन्य सदस्य से समर्थन मिलने की संभावना नहीं है. आईपीएल विदेशी खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा रकम का भुगतान करता है. खिलाड़ी के वेतन का 10 प्रतिशत हिस्सा उसके संबंधित बोर्ड को मिलता है. ऐसे में अधिकांश शीर्ष देश आईपीएल के दौरान कोई मैच नहीं रखते है.

आईसीसी ने नहीं मानी पाकिस्तान की बात

पाकिस्तान के विरोध के बारे में पूछे जाने पर आईसीसी बोर्ड के एक सदस्य ने हंसते हुए इसका जवाब दिया, ‘रमीज के साथ समस्या यह है कि उसे अपने देश की मीडिया से कुछ बातें कहनी होती हैं और वह वही करता है जो उचित होता है.’ उन्होंने कहा, ‘आईसीसी की बैठकों में हालांकि उनका प्रदर्शन वैसा नहीं होता है. उन्होंने कभी भी जोरदार विरोध नहीं किया. उन्हें पता है कि यह हो रहा है. बोर्ड इसे चाहता है और खिलाड़ी इसे चाहते हैं.’

आईपीएल को मिलेगा बड़ा फायदा

आठ टीमें के आईपीएल में 60 मैच होते थे लेकिन गुजरात टाइटंस और लखनऊ सुपर जायंट्स के जुड़ने के बाद इस बार 10 टीमों के आईपीएल में कुल 74 मैचों का आयोजन हुआ. भविष्य में मैचों की संख्या 84 और फिर 94 होगी. आईपीएल के विपरीत, इंग्लैंड में ‘द हंड्रेड’, ऑस्ट्रेलिया में बिग बैश लीग के लिए समर्पित विंडो नहीं होगी. ईसीबी (इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड) और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया हालांकि दोनों यह सुनिश्चित करना चाहेंगे कि यह कार्यक्रम का निर्धारण इस तरह से हो की दोनों देशों के बड़े खिलाड़ी अधिकांश मैचों के लिए उपलब्ध रहे.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.