Events

Byadmin

Jul 24, 2022
Map Unavailable

Date/Time
Date(s) - July 24, 2022 - July 25, 2022
All Day

Categories


नवनिर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का शपथ ग्रहण समारोह

President Oath: किसकी शपथ लेते हैं राष्ट्रपति, 25 जुलाई को ही क्यों होता है समारोह, संविधान में क्या लिखा है?

राष्ट्रपति को देश के मुख्य न्यायाधीश शपथ दिलाएंगे। अगर किसी कारण से चीफ जस्टिस उपस्थित नहीं हो पाते हैं तो सुप्रीम कोर्ट के सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश के सामने राष्ट्रपति शपथ लेते हैं।

ऐसे में आज हम आपको बताएंगे कि आखिर भारत के राष्ट्रपति किस चीज की शपथ लेंते? ये शपथ समारोह 25 जुलाई को ही क्यों होता है? राष्ट्रपति के शपथ का उल्लेख संविधान में कहां किया गया है? आइए जानते हैं…

पहले जानिए 25 जुलाई को ही क्यों शपथ लेते हैं राष्ट्रपति? 
देश में 26 जनवरी 1950 को गणतंत्र लागू हुआ। उसी दिन डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद देश के पहले राष्ट्रपति बने। तब तक देश में लोकसभा चुनाव नहीं हुए थे। 1951-52  में पहली बार लोकसभा और राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए। इसके बाद राष्ट्रपति चुनाव हुए। डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद 13 मई 1952 को जीतकर फिर से इस पद पर पहुंचे। 1957 में लगातार दूसरी बार जीतकर डॉक्टर प्रसाद राष्ट्रपति बने। डॉक्टर प्रसाद 12 साल तक इस पद पर रहे। 13 मई 1962 को उनका कार्यकाल पूरा हुआ और डॉक्टर राधाकृष्णन देश के दूसरे राष्ट्रपति बने। उन्होंने अपना कार्यकाल पूरा किया।

अब जानिए किस चीज की शपथ लेंगे राष्ट्रपति? 
राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में भारत के मुख्य न्यायाधीश के अलावा उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, लोकसभा के अध्यक्ष, राज्यसभा के उप सभापति, केंद्रीय मंत्री समेत अन्य कई हस्तियां शामिल होंगी।

राष्ट्रपति शपथ लेंगे…

“मैं (नाम) ईश्वर की शपथ लेता/लेती हूं कि मैं श्रद्धापूर्वक भारत के राष्ट्रपति के पद का कार्यपालन करूंगा/करूंगी तथा अपनी पूरी योग्यता से संविधान और विधि का परिरक्षण, संरक्षण और प्रतिरक्षण करूंगा/करूंगी, और मैं भारत की जनता की सेवा और कल्याण में निरत रहूंगा/रहूंगी।”

अगर राष्ट्रपति अंग्रेजी में शपथ लेते हैं तो…वह शपथ लेंगे 

“I, (NAME)., do swear in the name of God/solemnly affirm that I will faithfully execute the office of President (or discharge the functions of the President) of India and will to the best of my ability preserve, protect and defend the Constitution and the law and that I will devote myself to the service and well-being of the people of India.”.

 

Bookings

Bookings are closed for this event.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.