Indian Defense Forces: सीडीएस जनरल चौहान के पदभार संभालने के साथ, इस काम में तेजी आने की संभावना है और इस संबंध में जल्द ही निर्णय लिए जाने की उम्मीद है.

Integrated Theater Command: नए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल अनिल चौहान ने तीनों रक्षा बलों के साथ अपनी पहली बातचीत में  सेना, नौसेना और वायु सेना को एकीकृत थिएटर कमांड के निर्माण की दिशा में आगे बढ़ने के लिए कहा है. सीडीएस एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी के साथ सोमवार (3 अक्टूबर) को जोधपुर का दौरा भी करेंगे, जहां भारतीय वायु सेना में हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर को शामिल किया जाएगा.

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का पद 2019 में बनाया गया था और सेना, नौसेना और वायु सेना को संयुक्त रूप से अगले युद्ध लड़ने में मदद करने के लिए थिएटर कमांड बनाना इसके पीछे एक प्रमुख कारण था.

अब आगे बढ़ने का समय आ गया है’
सरकारी सूत्रों ने बताया, “सीडीएस ने रक्षा बलों को थिएटर कमांड बनाने पर आगे बढ़ने के लिए कहा है. इस मुद्दे पर पहले ही बहुत सारी चर्चा हो चुकी है और अब आगे बढ़ने का समय आ गया है.” उन्होंने कहा कि तीनों सेवाओं ने थिएटर कमांड के मुद्दे पर विस्तार से चर्चा करने के लिए व्यक्तिगत क्षमता के साथ-साथ संयुक्त रूप से कई अध्ययन भी किए हैं.

जनरल चौहान के पूर्ववर्ती, दिवंगत जनरल बिपिन रावत भी तीनों सेनाओं को आधुनिक हथियारों से लैस और चुस्त लड़ाकू इकाइयों में बदलने पर बहुत जोर दे रहे थे. पहले की योजनाओं के अनुसार, एक समुद्री थिएटर कमांड के साथ पश्चिमी और पूर्वी भूमि-आधारित कमानों का निर्माण किया जाना था. एयर डिफेंस कमांड भी बनाई जानी थी और लद्दाख क्षेत्र को कुछ समय के लिए छोड़ देना था.

हालांकि, भारतीय वायु सेना ने थिएटर कमांड के निर्माण का समर्थन किया लेकिन उनमें से कई को बनाने के खिलाफ अपने विचार भी व्यक्त किए, जिससे इसकी मौजूदा संपत्ति जैसे लड़ाकू विमान का विभाजन हो सकता है.

तीनों सेनाओं द्वारा अध्ययन और प्रस्तुतियां जारी हैं
जनरल रावत के निधन के बाद, तीनों सेनाओं द्वारा ये अध्ययन और प्रस्तुतियां जारी हैं और इस मामले पर रक्षा मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों को प्रस्तुतियां दी गई हैं. सीडीएस जनरल चौहान के अब पदभार संभालने के साथ, इन कमांडों के निर्माण में तेजी आने की संभावना है और इस संबंध में जल्द ही निर्णय लिए जाने की उम्मीद है.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *