Deewana Completes 30 Years:  लाखों का नायक बनना आसान नहीं होता लेकिन शाहरुख खान (Shahrukh Khan) में वो टैलेंट था कि पहली ही फिल्म से उन्होंने बाहें फैलाकर ऐसा जादू चलाया मानो कह रहे हो- कोई ना कोई चाहिए, प्यार करने वाला. 

Shahrukh Khan Debut Movie Deewana: शाहरुख खान बाहें फैलाते हैं तो लड़कियां दिल हार बैठती हैं, वो बाहें फैलाकर मुस्कुरा देते हैं तो बस सीने से दिल निकल जाता है. इस अदा से शाहरुख खान (Shahrukh Khan) पिछले 30 सालों से हर किसी को अपना दीवाना बना रहे हैं. 1992 में पहली बार इस दीवाने ने बाहें फैलाकर खुद को फैंस को सौपने का जो इजहार किया वो देख दुनिया ने उन्हें ऐसे गले लगाया कि वो दिलों के बादशाह, रोमांस के बादशाह बन बैठे. 

दीवाना के 30 साल पूरे

25 जून 1992 को शाहरुख खान की पहली फिल्म दीवाना रिलीज हुई थी. इस फिल्म में यूं तो ऋषि कपूर मेन लीड में थे लेकिन चर्चा सबसे ज्यादा हुई डेब्यू एक्टर शाहरुख खान की. शाहरुख को देख दिल धड़क उठे थे, उनकी मुस्कुराहट पर दिल फिदा हो गए थे और जब शाहरुख अपनी-अपनी घनी जुल्फें लहराते तो फिर दिल संभाले ना संभालते. इस फिल्म में शाहरुख दिव्या भारती के दीवाने थे जो ऋषि कपूर से प्यार करती थीं लेकिन फिल्म में पति के निधन के बाद दीवाने शाहरुख ने उनके दिल को फिर से धड़कना सिखाया था.   

50 हफ्तों तक स्क्रीन पर लगी रही थी फिल्म

शाहरुख खान की दीवाना फिल्म की स्क्रीनिंग के वक्त थियेटर बिल्कुल सुनसान थे और ये देख फिल्म के निर्देशक को बड़ा झटका लगा था. लेकिन जब ये फिल्म रिलीज हुई और इसका शोर धीरे धीरे फैलने लगा तो फिर इसे ब्लॉकबस्टर होने से कोई नहीं रोक सका. फिल्म को देखने के लिए कॉलेज के स्टूडेंट पहुंचने लगे. फिल्म हाफसफुल जाने लगी और देखने ही देखते इसने गोल्डन जुबली कर ली, 50 हफ्तों तक फिल्म थियेटर्स पर लगी रही. उस साल इस फिल्म को 5 फिल्मफेयर अवॉर्ड भी मिले. दिव्या भारती को फेस ऑफ द ईयर, शाहरुख खान को बेस्ट मेल डेब्यू के अलावा बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर, बेस्ट गीतकार और बेस्ट प्लेबैक सिंगर की कैटेगरी में इन्हें अवॉर्ड मिला था.  

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.