Assam Congress: कांग्रेस में इस्तीफों का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब कांग्रेस की असम इकाई के महासचिव कमरुल इस्लाम चौधरी ने रविवार को पार्टी के प्रदेश नेतृत्व को ‘दिशाहीन और भ्रमित’ करार देते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया.

Assam Congress: कांग्रेस में इस्तीफों का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब कांग्रेस की असम इकाई के महासचिव कमरुल इस्लाम चौधरी ने रविवार को पार्टी के प्रदेश नेतृत्व को ‘दिशाहीन और भ्रमित’ करार देते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया. कमरुल इस्लाम चौधरी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र में अपने इस्तीफे की घोषणा की. 

नेतृत्व को बताया ‘दिशाहीन’

उन्होंने पत्र में कहा है, ‘…पिछले कुछ महीनों के दौरान असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी (APCC) के दिशाहीन और भ्रमित नेतृत्व के कारण राज्य में कांग्रेस की वर्तमान अस्थिरता से मेरे लिए पार्टी के सदस्य के रूप में बने रहने का कोई कारण नहीं रह गया है.’

‘बागी विधायकों पर नहीं लिया गया कोई एक्शन’

चौधरी ने यह भी आरोप लगाया कि उन विधायकों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई, जिन्होंने हाल में हुए राष्ट्रपति चुनाव के दौरान ‘क्रॉस वोटिंग’ की थी, जबकि एपीसीसी अध्यक्ष भूपेन कुमार बोरा ने सार्वजनिक रूप से यह बात मानी थी.

‘कार्यकर्ताओं का गिरा मनोबल’

चौधरी ने पत्र में कहा है ‘क्रॉस वोटिंग में शामिल विधायकों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने से मेरे जैसे हजारों जमीनी कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरा है, जिन्होंने सालों तक पार्टी के लिए खून-पसीना बहाए हैं.’

नहीं थम रहा इस्तीफों का दौर!

उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले पार्टी के सीनियर नेता गुलाम नबी आजाद ने भी शीर्ष नेतृत्व पर आरोप लगाते हुए पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था. उनके इस्तीफे से राष्ट्रीय राजनीति में चर्चाएं तेज हो गईं.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.