Aurangabad New Name: एआईएमआईएम सांसद इम्तियाज जलील ने कहा कि इतिहास बदला नहीं जा सकता है सिर्फ नाम बदला जा सकता है. शिवसेना ने घटिया राजनीति का नमूना पेश किया.

Aurangabad Name Change Latest Update: महाराष्ट्र (Maharashtra) सरकार की कैबिनेट ने आज (बुधवार को) औरंगाबाद (Aurangabad) और उस्मानाबाद (Osmanabad) का नाम बदलने का फैसला किया. औरंगाबाद का नाम अब संभाजीनगर (Sambhajinagar) और उस्मानाबाद का नाम धारशिव (Dharshiv) होगा. महाराष्ट्र सरकार के इस फैसले से असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम (AIMIM) के सांसद इम्तियाज जलील भड़क गए हैं. उन्होंने कांग्रेस नेताओं को धमकी दी है.

सांसद इम्तियाज जलील की कांग्रेस नेताओं को चुनौती

सांसद इम्तियाज जलील ने कहा कि कांग्रेस के जितने भी नेता हैं मैं उनको चुनौती दे रहा हूं कि अगर तुम्हारे में हिम्मत है तो आज पुराने शहर में निकलकर दिखाओ. उनमें हिम्मत नहीं है. वो शहर में निकल नहीं सकते हैं क्योंकि कहीं ना कहीं तुमने लोगों के साथ खिलवाड़ किया है उनको धोखा दिया है. जब चुनाव होंगे तो ये आएंगे, तब इनको जवाब मिलेगा. अब पब्लिक कैसा जवाब देगी आप खुद समझिएगा.

AIMIM सांसद ने शिवसेना पर कसा तंज

एआईएमआईएम सांसद इम्तियाज जलील ने कहा कि मैं उद्धव ठाकरे और शिवसेना को बताना चाहता हूं कि इतिहास बदला नहीं जा सकता है नाम बदले जा सकते हैं. जब आपके पास कुछ दिखाने को नहीं है तो आप इस तरह की घटिया राजनीति का नमूना पेश करके जा रहे हैं. औरंगाबाद की जनता ये तय करने वाली है कि औरंगाबाद का नाम क्या रहेगा और क्या नहीं रहेगा.

अबू आजमी ने भी जताया विरोध

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी के नेता अबू आजमी ने भी औरंगाबाद और उस्मानाबाद का नाम बदलने पर नाराजगी जताई है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैं महाविकास अघाड़ी सरकार की कैबिनेट बैठक में औरंगाबाद और उस्मानाबाद के नाम बदलने के फैसले की निंदा करता हूं. साथ ही मुस्लिम आरक्षण को भी नजरअंदाज किया गया. हमारा समर्थन कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत है लेकिन अब MVA भी वही कर रही है जो भाजपा करती है.’

एक अन्य ट्वीट में अबू आजमी ने लिखा कि अजित पवार, अशोक चव्हाण और बालासाहेब थोरत से कहना चाहूंगा कि इन फैसलों से महाराष्ट्र का मुसलमान खुद को महाविकास अघाड़ी से ठगा हुआ और दरकिनार महसूस रहा है.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed