Excise policy scam: सिसोदिया के खिलाफ सीबीआई जांच को लेकर दिल्ली में बीजेपी और AAP के बीच सियासी घमासान छिड़ा हुआ है. सिसोदिया पर जांच की आंच आने के बाद बीजेपी उन्हें पद से हटाने की मांग कर रही है और इसे लेकर लगातार प्रदर्शन भी किए जा रहे हैं. 

Manish Sisodia on CBI investigation: दिल्ली में शराब घोटाले में फंसे उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से सीबीआई एक बार फिर से पूछताछ कर सकती है. सिसोदिया ने दावा करते हुए कहा कि सीबीआई के अधिकारी मंगलवार को उनके बैंक लॉकर देखने आएंगे लेकिन उन्हें कुछ भी मिलने वाला नहीं है. आम आदमी पार्टी के नेता सिसोदिया उन 15 लोगों और संस्थाओं में शामिल हैं, जिन्हें CBI ने दिल्ली आबकारी नीति में हुए कथित घोटाले के सिलसिले में दर्ज FIR में नामजद किया गया है. इससे पहले भी जांच एजेंसी ने 15 घंटे तक सिसोदिया के घर पर छापेमारी की थी.

सीबीआई का स्वागत है…

सीबीआई ने 19 अगस्त को इस मामले में सिसोदिया के आवास समेत देशभर में 31 ठिकानों पर छापे मारे थे. सोमवार को सिसोदिया ने ट्वीट किया, ‘कल सीबीआई हमारा बैंक लॉकर देखने आ रही है. 19 अगस्त को मेरे घर पर 14 घंटे के छापे में कुछ नहीं मिला था. लॉकर में भी कुछ नहीं मिलेगा. सीबीआई का स्वागत है,जांच में मेरा और मेरे परिवार का पूरा सहयोग रहेगा.’ सिसोदिया का कहना है कि उन्हें एक झूठे मामले में आरोपी बनाया गया है ताकि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आगे बढ़ने से रोका जा सके, जो 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकल्प के तौर पर उभरे हैं.

शराब पॉलिसी में घोटाले का आरोप

सीबीआई ने फिलहाल इस मामले में कोई बयान नहीं दिया है. बैंक लॉकरों की जांच की एक प्रक्रिया है और उन्हें चार्जशीट में इसका जिक्र करना होगा. सीबीआई ने अपनी FIR में सिसोदिया को आरोपी नंबर वन बनाया है. सीबीआई की FIR आईपीसी की धारा 120-बी (आपराधिक साजिश) और 477-ए (खातों का जालसाजी) के तहत दर्ज की गई है. सिसोदिया पर आरोप है कि शराब कारोबारियों को कथित तौर पर 30 करोड़ रुपये की छूट दी गई साथ ही लाइसेंस होल्डर्स को कथित तौर पर उनकी मर्जी के मुताबिक एक्सटेंशन दिया गया था. आबकारी नियमों का उल्लंघन कर नीतिगत नियम बनाए गए.

सिसोदिया के खिलाफ सीबीआई जांच को लेकर दिल्ली में बीजेपी और AAP के बीच सियासी घमासान छिड़ा हुआ है. सिसोदिया पर जांच की आंच आने के बाद बीजेपी उन्हें पद से हटाने की मांग कर रही है और इसे लेकर लगातार प्रदर्शन भी किए जा रहे हैं. दूसरी ओर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी ने खुलेतौर पर सिसोदिया का बचाव करते हुए उन्हें ईमानदार राजनेता बताया है. केजरीवाल ने विधानसभा में कहा कि दिल्ली में AAP की सरकार गिराने की कोशिश हो रही है लेकिन बीजेपी का ‘ऑपरेशन लोटस’ यहां फेल हो चुका है.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.