Agnipath Scheme: अग्निपथ सैन्य भर्ती योजना के खिलाफ प्रदर्शन के जोर पकड़ने के बीच थलसेना, नौसेना और वायुसेना ने इस नए ‘प्रारूप’ के तहत अगले हफ्ते तक चयन प्रक्रिया शुरू करने की शुक्रवार को घोषणा की. 

Agnipath Scheme: अग्निपथ सैन्य भर्ती योजना (Agnipath Recruitment Scheme) के खिलाफ प्रदर्शन के जोर पकड़ने के बीच थलसेना, नौसेना और वायुसेना ने इस नए ‘प्रारूप’ के तहत अगले हफ्ते तक चयन प्रक्रिया शुरू करने की शुक्रवार को घोषणा की. वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सशस्त्र बलों में शामिल होने के आकांक्षी युवाओं से अपनी तैयारी शुरू कर देने की अपील की.

कब से शुरू होगी चयन प्रक्रिया

वायुसेना प्रमुख वी आर चौधरी ने कहा कि अग्निपथ योजना के तहत वायुसेना द्वारा चयन प्रक्रिया 24 जून से शुरू होगी, जबकि थलसेना ने कहा कि वह भर्ती के लिए प्रारंभिक अधिसूचना जारी कर दो दिनों के भीतर इसकी प्रक्रिया औपचारिक रूप से शुरू कर देगी. वहीं, नौसेना ने कहा कि वह ‘बहुत जल्द’ भर्ती प्रक्रिया शुरू करेगी. नौसेना के एक वरिष्ठ कमांडर ने कहा कि भर्ती के लिए अधिसूचना एक हफ्ते के अंदर जारी कर दी जाएगी. 

अगले साल जून तक तैयार होगा अग्निवीरों का पहला बैच

वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों ने बताया कि तीनों सशस्त्र बल नई योजना के तहत अभियानगत और गैर-अभियानगत भूमिकाओं में रंगरूटों के प्रथम बैच को अगले साल जून तक तैनात करने की योजना बना रहे हैं. अधिकारियों ने यह भी कहा कि प्रदर्शन कर रहे युवा अग्निपथ योजना के फायदों से पूरी तरह से अवगत नहीं हैं.

प्रदर्शनकारियों को शांत करने की कोशिश के तहत सरकार ने गुरुवार रात इस योजना के तहत 2022 के लिए सैनिकों की भर्ती के वास्ते ऊपरी उम्र सीमा 21 वर्ष से बढ़ा कर 23 वर्ष कर दी.

जम्मू-कश्मीर में रक्षा मंत्री ने कही ये बात

जम्मू कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर गए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सशस्त्र बलों में भर्ती की ‘अग्निपथ योजना’ का विरोध कर रहे युवाओं की चिंताओं को दूर करने के प्रयास के तहत कहा कि यह नई योजना भारत के युवाओं को देश की रक्षा व्यवस्था से जुड़ने और देश सेवा करने का सुनहरा अवसर है. रक्षा मंत्री ने कहा कि कुछ ही दिनों में सेना की भर्ती प्रक्रिया आरंभ होने वाली है. उन्होंने विरोध प्रदर्शन कर रहे युवाओं से अपील की कि वे इसकी तैयारी में जुट जाएं.

कोविड की वजह से बढ़ाई गई 2 साल समय सीमा

मंगलवार को केंद्र ने इस नई योजना की घोषणा की. कोरोना वायरस महामारी के कारण सशस्त्र बलों में भर्ती दो साल से अधिक समय से रूके रहने के मद्देनजर यह घोषणा की गई. थल सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने कहा कि ‘अग्निपथ’ योजना के तहत 2022 के लिए आयु सीमा को 21 वर्ष से बढ़ाकर 23 वर्ष करने का निर्णय उन युवाओं को अवसर प्रदान करेगा, जो सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहे हैं, लेकिन पिछले दो साल से कोविड-19 महामारी के कारण ऐसा नहीं कर पाए.

आर्मी चीफ ने कही ये बात

जनरल पांडे ने कहा कि सेना में भर्ती के लिए उम्र में एकबारगी छूट देने संबंधी सरकार के फैसले के बाद भर्ती प्रक्रिया की घोषणा जल्द की जाएगी. एयर चीफ मार्शल चौधरी ने कहा कि 2022 के लिए अग्निपथ योजना के तहत (सशस्त्र बल में) भर्ती किए जाने वालों की उम्र सीमा बढ़ा कर 23 वर्ष कर दी गई है, जिससे सशस्त्र बलों में कहीं अधिक संख्या में युवाओं की भर्ती की जा सकेगी.

उन्होंने कहा, ‘सरकार सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए हाल में अग्निपथ योजना लाई है. योजना के लिए न्यूनतम उम्र साढ़े 17 वर्ष और अधिकतम उम्र सीमा 21 साल है. मैं यह सूचित करते हुए खुश हूं कि पहली भर्ती के लिए ऊपरी उम्र सीमा बढ़ा कर 23 साल कर दी गई है.’ वायुसेना प्रमुख ने कहा, ‘इस बदलाव से युवाओं का एक बड़ा हिस्सा अग्निवीर के रूप में भर्ती हो सकेगा. वायुसेना के लिए चयन प्रक्रिया 24 जून से शुरू होगी.’

नौसेना ने एक बयान में कहा कि ऊपरी उम्र सीमा में बढ़ोतरी उन युवाओं की भर्ती का मार्ग प्रशस्त करेगी जो कोविड महामारी के कारण अस्थायी रूप से भर्ती रुकने के कारण सशस्त्र बलों में शामिल नहीं हो सके थे. इसमें कहा गया है, ‘नौसेना अग्निवीरों के प्रथम बैच का स्वागत करने के लिए तैयार है…’ सैन्य अधिकारियों ने बताया कि थलसेना भर्ती के लिए दो दिनों में एक शुरुआती अधिसूचना जारी करेगी.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.