Monkeypox Virus: अमेरिका के सीडीसी के अनुसार मंकीपॉक्स एक दुर्लभ बीमारी है जो मंकीपॉक्स वायरस के संक्रमण से होती है. मंकीपॉक्स वायरस Poxviridae के ऑर्थोपॉक्सवायरस जीनस से संबंधित है.

Monkeypox Virus: मंकीपॉक्स वायरस के केस पूरी दुनिया में दिन-ब-दिन बढ़ते ही जा रहे हैं. यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि इसे लेकर न तो लोग चिंतित हैं और न ही सरकारें. ये खतरनाक वायरस 40 से अधिक देशों में फैल चुका है. हाल ही में दक्षिण कोरिया और सिंगापुर ने अपना पहला मामला दर्ज किया है.

मंकीपॉक्स को लेकर जारी हुई गाइडलाइंस

सेंटर फॉर डिजास्टर कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने संक्रमण पर काबू पाने के लिए कई दिशा-निर्देश जारी किए हैं. जिसमें संक्रमितों को आइसोलेट करना, साफ-सफाई का ध्यान देना, डाइरेक्ट फिजिकल कॉन्टेक्ट से बचना, पालतू जानवरों के संपर्क से बचना आदि शामिल हैं. यूके के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि कुछ गे और बाईसेक्सुअल पुरुषों को मंकीपॉक्स संक्रमण होने का अधिक जोखिम है, उन्हें वैक्सीन जरूर लेनी चाहिए.

मंकीपॉक्स के नए लक्षण क्या हैं?

अमेरिका के सीडीसी के अनुसार मंकीपॉक्स एक दुर्लभ बीमारी है जो मंकीपॉक्स वायरस के संक्रमण से होती है. मंकीपॉक्स वायरस Poxviridae के ऑर्थोपॉक्सवायरस जीनस से संबंधित है. ऑर्थोपॉक्सवायरस जीनस में वेरियोला वायरस (जो चेचक का कारण बनता है), वैक्सीनिया वायरस (चेचक के टीके में प्रयुक्त), और काउपॉक्स वायरस भी शामिल है. मंकीपॉक्स का पहला मानव मामला 1970 में दर्ज किया गया था. तब से, कई मध्य और पश्चिमी अफ्रीकी देशों के लोगों में मंकीपॉक्स वायरस मिल चुका है. मंकीपॉक्स के नए लक्षणों में बुखार, पूरे शरीर पर चकत्ते, गंभीर सिरदर्द, थकान और बढ़े हुए लिम्फ नोड्स शामिल हैं. मंकीपॉक्स वायरस की अवधि आमतौर पर 6 से 13 दिनों तक होती है, लेकिन यह पांच से 21 दिनों तक भी परेशान कर सकता है. स्किन का फटना आमतौर पर बुखार दिखने के 1-3 दिनों के भीतर शुरू हो जाता है. चेहरे और हाथ-पांव पर दाने निकलना शुरू हो जाते हैं.

तेजी से क्यों फैल रहा मंकीपॉक्स?

मंकीपॉक्स के तेजी से फैलने का मुख्य कारण लोगों की लापरवाही है. दिन-ब-दिन बढ़ते मामले के बाद भी लोग जरूरी सावधानियां नहीं बरत रहे हैं. वर्तमान में किसी भी देश ने कोई यात्रा प्रतिबंध लागू नहीं किया है. कोविड-19 की ही तरह मंकीपॉक्स में भी यही देखने को मिल रहा है.

इन देशों में फैल चुका है मंकीपॉक्स

डब्ल्यूएचओ की एक रिपोर्ट के अनुसार कुल 42 देशों में मंकीपॉक्स के 2,103 मामले दर्ज किए गए हैं. इनमें से 99 फीसदी मामले पुरुषों में पाए गए. 22 जून को दक्षिण कोरिया में भी मंकीपॉक्स का एक मामला सामने आया है. यूरोप सबसे अधिक प्रभावित हुआ है, जिसमें 84 प्रतिशत पुष्ट मामले इस क्षेत्र से सामने आए हैं. इसके बाद अमेरिका में 12 प्रतिशत है, जबकि अफ्रीका में 3 प्रतिशत मामले हैं.

मंकीपॉक्स को लेकर सेक्स से जुड़ी गाइडलाइंस

मंकीपॉक्स सेक्स या सीधे शारीरिक संपर्क से फैल सकता है. हालांकि सीडीसी सीधे शारीरिक संपर्क से बचने का सुझाव देता है, लेकिन उसने मंकीपॉक्स के प्रसार को रोकने के लिए कुछ सेक्स दिशानिर्देश दिए हैं. उनमें से कुछ यहां हैं:

1. बिना किसी व्यक्तिगत संपर्क के वर्चुअल सेक्स करें.

2. बिना एक-दूसरे को छुए और बिना किसी दाने या घाव को छुए कम से कम 6 फीट की दूरी पर रहें.

3. उन क्षेत्रों को ढंकें जहां दाने या घाव मौजूद हैं, जितना संभव हो त्वचा से त्वचा के संपर्क को कम करें.

4. किस (kiss) करने से बचें.

5. अपने हाथ, चादरें और इस्तेमाल की गई अन्य चीजों को धोना याद रखें.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.