नई दिल्ली: ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) के तहत दिल्ली में येलो अलर्ट (Yellow Alert) लागू किया गया है. माहौल की गंभीरता को देखते हुए अब DMRC ने भी अपने दिशानिर्देशों में फेरबदल किया है जिससे कोविड संक्रमण के प्रकोप से बचने में कुछ हद तक मदद मिल पाएगी. DMRC ने जारी की नई गाइडलाइन्स DMRC ने कोविड-19 (Covid-19) के दिशा-निर्देशों के मद्देनजर नई गाइडलाइन्स जारी कर दी है. नियम के अनुसार ट्रेनों में 50% बैठने की क्षमता के साथ यात्रा की अनुमति होगी. साथ ही किसी भी यात्री को मेट्रो के अंदर खड़े होने की अनुमति नहीं होगी. DMRC ने दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए गेटों की संख्या सीमित करके मेट्रो स्टेशनों में प्रवेश को नियंत्रित करने का फैसला लिया है. नए नियमों का पालन करें यात्री नए नियमों के कारण यात्रियों को कुछ असुविधाओं का सामना करना पड़ सकता है लेकिन नियम पालन करना जान जोखिम में डालने से जाहिर तौर पर बेहतर है. प्रवेश नियंत्रित करने से पिछली बार मेट्रो स्टेशंस के बाहर भारी भीड़ जमा होने से यात्रियों पर असुविधा के साथ साथ संक्रमण का भी खतरा मंडराया था. अब इस बार DMRC के लिए इस समस्या का समाधान करना एक चुनौती बनने वाला है.

ByLive

Dec 28, 2021

नई दिल्ली: पंजाब कांग्रेस में मची सियासी खींचतान का फायदा बीजेपी उठा रही है. राज्य में अगले साल होने वाले विधान सभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी में भगदड़ शुरू हो गई है. पहले मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नई पार्टी बनाकर बीजेपी से गठजोड़ कर लिया और अब कांग्रेस के दो मौजूदा विधायकों ने बीजेपी का दामन थाम लिया है.

सिद्धू ने किया था समर्थन

केंद्रीय मंत्री को पंजाब के प्रभारी गजेंद्र सिंह शेखावत की मौजूदगी में मंगलवार को कांग्रेस विधायक फतेह सिंह बाजवा और बलविंदर सिंह लाड्डी ने बीजेपी जॉइन की. इनके अलावा पंजाब में ईसाई समुदाय के बड़े नेता कमल बक्शी, पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के सेवानिवृत्त वकील मधुमीत, कारोबारी जगदीप सिंह धालीवाल और पूर्व क्रिकेटर दिनेश मोंगिया भी बीजेपी में शामिल हो गए हैं.

फतेह सिंह के बड़े भाई प्रताप सिंह बाजवा भी कादियां से विधान सभा चुनाव लड़ना चाहते हैं और इसे लेकर मौजूदा विधायक फतेह सिंह नाराज थे. ऐसे में पिछले दिनों चुनावी रैली में सिद्धू ने फतेह सिंह की उम्मीदवारी का समर्थन किया था. अब माना जा रहा है कि इस सीट पर दो भाइयों के बीच चुनावी जंग देखने को मिल सकती है.

दोनों विधायकों ने छोड़ी पार्टी

कादियां से विधायक फतेह सिंह बाजवा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रताप सिंह बाजवा के भाई हैं. बाजवा के अलावा हरगोबिंदपुर से कांग्रेस के मौजूदा विधायक बलविंदर सिंह लड्डी भी भाजपा में शामिल हो गए. पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने बीते हफ्ते इन दोनों विधायकों की उम्मीदवारी का समर्थन किया था लेकिन अब दोनों ने ही पार्टी को अलविदा कह दिया है.

By Live

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *