Lord Bholenath Darshan: बाबा भोलेनाथ के भक्त अब दुनिया के किसी भी कोने से भोलेनाथ की गुफा पर पूजा कर सकते हैं. श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड ने वर्चूअल दर्शन और पूजा की सुविधा शुरू की है. इसके तहत भक्त ऑनलाइन पूजा और हवन कर सकेंगे.  

Shri Amarnath Ji Shrine Board: श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड द्वारा दुनिया भर में भगवान शिव के भक्तों को पूजा और दर्शन का व्यक्तिगत अनुभव करने का अवसर प्रदान करने के लिए टेक्नॉलजी का उपयोग कर पहल की गई है. दुनिया भर में भगवान शिव के उन लाखों भक्तों को पूजा-पाठ का अवसर मिल सकेगा, जो इस वर्ष यात्रा केलिए नहीं आ सके. श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड वर्चूअल पूजा, हवन, प्रसाद बुकिंग के लिएऑनलाइन सुविधा का विस्तार कर रहा है, ताकि भक्तों को पवित्र गुफा के मंदिर का व्यक्तिगत अनुभव मिल सके.

ऑनलाइन मिलेंगी ये सुविधा

श्राइन बोर्ड के अधिकारी ने कहा कि भक्त पूजा, हवन और प्रसाद ऑनलाइन बुक कर सकते हैं और पवित्र गुफा के पुजारी इसे भक्त के नाम पर चढ़ाएंगे. पूजा के बाद प्रसाद भक्तों तक पहुंचाया जाएगा. इस अवसर पर श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के सीईओ ने कहा कि ऑनलाइन सेवाओं को श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड की वेबसाइट www.shriamarnathjishrine.com के माध्यम से बुक किया जा सकता हैं, जिसमें ऑनलाइन पूजा / हवन / प्रसाद लिंक पर क्लिक करके और बोर्ड के मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से बुक किया जा सकता है.

हर सुविधा की अलग फीस

एक अधिकारी ने कहा कि पूजा के लिए अलग-अलग दरें हैं. वर्चुअल पूजा के लिए 1100 रुपये.  1100 रुपये प्रसाद बुकिंग के लिए (श्री अमरनाथ जी के 5 ग्राम चांदी के सिक्के के साथ). 2100 रुपये प्रसाद बुकिंग के लिए (श्री अमरनाथ जी के 10 ग्राम चांदी के सिक्के के साथ) और 5100 रुपये विशेष हवन केलिए.

वर्चुअल कर सकेंगे पूजा

वर्चूअल पूजा या हवन पुजारी द्वारा गुफा के मंदिर में मंत्रों और श्लोकों के जाप के साथ भक्त के नाम और गोत्र का उच्चारण करके की जाएगी. उन्होंने कहा कि उपलब्ध टेक्नॉलजी का उपयोग करते हुए भक्तों को Jio मीट एप्लिकेशन के माध्यम से एक वर्चुअल ऑनलाइन रूम में जाने दिया जाएगा, जिसमें वे भगवान शिव की विशेष वर्चुअल पूजा और दर्शन कर सकते हैं.

पोस्ट विभाग से भेजा जाएगा प्रसाद

श्राइन बोर्ड के सीईओ ने कहा कि हमने 48 घंटे के भीतर प्रसाद भेजने के लिए डाक विभाग के साथ व्यवस्था की है. उन्होंने कहा कि एक बार बुकिंग हो जाने के बाद श्राइन बोर्ड भक्त के पंजीकृत मोबाइल नंबर/ई-मेल आईडी पर लिंक और तारीख/समय को शेयकर करेगा. पोर्टल को श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड द्वारा राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, जम्मू-कश्मीर की मदद से बनाया गया है.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.