Taj Mahal Renamed: एक बार फिर से ताजमहल का नाम बदलने की चर्चा तेज है. बीजेपी पार्षद आगरा नगर निगम में नाम बदलने को लेकर प्रस्ताव पेश करने जा रहे हैं.

Taj Mahal Name Change: आगरा के ताजमहल का नाम बदलने की एक बार फिर से मांग उठी है. आगरा में बीजेपी पार्षद ने ये मांग उठाई है. इसे लेकर आज आगरा नगर निगम में ये प्रस्ताव आएगा. बीजेपी पार्षद शोभाराम राठौर ने ताजमहल का नाम बदलकर तेजोमहालय रखने की बात कही है. पार्षद का कहना है कि उन्होंने अपने प्रस्ताव में इसे लेकर कई तथ्य रखे हैं, जिसके आधार पर सदन में प्रस्ताव पेश किया जाएगा.

बीजेपी पार्षद ने उठाई मांग 

बीजेपी पार्षद शोभाराम राठौर का ये तर्क है कि पिछले साढ़े 4 साल में करीब 80 सड़कों और चौराहों का नाम बदला गया है. ऐसे में ताजमहल के नाम बदलने की भी लंबे वक्त से मांग उठ रही है. इतना ही नहीं, शोभाराम राठौर ताजगंज से पार्षद हैं, इसी इलाके में ताजमहल आता है. उन्होंने कहा है कि ताजमहल में हिंदू सभ्यता के कई निशान जैसे दीवारों पर कमल की आकृति मिली है. ऐसे में ताजमहल का नाम बदलना चाहिए. 

तेजो महालय का दावा क्या ?

पहले भी ताजमहल के नाम को बदलने की मांग उठ चुकी है. इसे लेकर कई तरह के दावे किए जाते रहे हैं. कुछ लोगों का दावा है कि ताजमहल की जगह पहले शिव मंदिर था. 1212 ई. में परमाद्देव ने तेजो महालय बनवाया था. ताजमहल के 22 कमरे में मंदिर के सबूत हैं. इसके अलावा दावा किया जाता है कि ताजमहल के आसपास हिंदू आर्किटेक्चर है. ‘ताज’ और ‘महल’ दोनों ही संस्कृत के शब्द हैं. संगमरमर की जाली में 108 कलश हैं. 

सदन में पढ़ा जाएगा प्रस्ताव

आज नगर निगम की बैठक में नाम बदलने का प्रस्ताव पेश किया जाएगा. इस मामले में अधिकारी मौन हैं, लेकिन मेयर का कहना है कि प्रस्ताव आया है. ये प्रस्ताव आज सदन में पढ़ा जाएगा और सभी पहलुओं पर विचार करने के बाद आगे की कार्यवाही होगी.

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.