अबुजा: एक तरह जहां कोरोना (Coronavirus) से जंग में कई देश वैक्सीन (Vaccine) की कमी का सामना कर रहे हैं. वहीं, नाइजीरिया (Nigeria) में पिछले महीने वैक्सीन की एक मिलियन (दस लाख) डोज बर्बाद हो गई हैं. स्थानीय सरकार का कहना है कि ऐसा वैक्सीन की एक्सपायरी डेट निकलने की वजह से हुआ. अब सवाल ये उठता है कि आखिर सरकार ने वैक्सीन एक्सपायर होने का इंतजार क्यों किया? ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगवाने की कोशिश क्यों नहीं की गई?

कम शेल्फ लाइफ को बताया दोषी

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में ओमिक्रॉन (Omicron Variant) के खतरे के बावजूद वैक्सीनेशन की रफ्तार अपेक्षाकृत धीमी है. नाइजीरिया, जहां 200 मिलियन लोग रहते हैं, वहां केवल 4% वयस्कों का ही वैक्सीनेशन पूरा हो सका है. कई अफ्रीकी देशों का कहना है कि उनके पास कम शेल्फ लाइफ वाले टीकों को प्रबंधित करने की क्षमता नहीं है. इस वजह से कई बार वैक्सीन बिना लगे ही बेकार चली जाती है.

By Live

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *