Karuna Jain: भारत की विकेटकीपर करुणा जैन ने रविवार को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेने की घोषणा की. करुणा ने 2005 और 2014 में भारत के लिए पांच टेस्ट, 44 वनडे और नौ टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले.

Karuna Jain: भारत की विकेटकीपर करुणा जैन ने रविवार को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेने की घोषणा की. करुणा ने 2005 और 2014 में भारत के लिए पांच टेस्ट, 44 वनडे और नौ टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले, जिसमें क्रमश: 195, 987 और 9 रन बनाए. 2004 में अपने वनडे डेब्यू पर उन्होंने लखनऊ में वेस्टइंडीज के खिलाफ 64 रन बनाए, जिसने उन्हें भारतीय टीम का एक अभिन्न अंग बना दिया.

लंबे समय के बाद लिया संन्यास

करुणा ने कहा, ‘मैं इस अवसर पर उन सभी को धन्यवाद देना चाहती हूं, जो शुरू से ही मेरी क्रिकेट यात्रा का हिस्सा रहे हैं, जिसमें सभी कोचों, सहयोगी स्टाफ और मेरी टीम के साथी रहे हैं.’ उन्होंने आगे कहा, ‘उनमें से प्रत्येक ने मुझे खेल और जीवन के बारे में बहुत कुछ सिखाया है, जिसने मुझे आज की खिलाड़ी और व्यक्ति बना दिया है. यह एक अविश्वसनीय यात्रा रही है.’

शानदार विकेटकीपर थीं करुणा

महिला टेस्ट में, उन्होंने स्टंप्स के पीछे 17 आउट किए, जो अंजू जैन के बाद भारतीय कीपरों में दूसरा सबसे अच्छा रिकॉर्ड है, जिन्होंने 23 आउट किए थे. बेंगलुरु की विकेटकीपर करुणा ने अपने परिवार के साथ-साथ बीसीसीआई और राज्य संघों का भी शुक्रिया अदा किया, जिनका उन्होंने घरेलू सर्किट में प्रतिनिधित्व किया.

उन्होंने कहा, ‘मेरे परिवार और सबसे बढ़कर मेरे भाई ने मेरा समर्थन किया. मैं इस अवसर पर बीसीसीआई और राज्य संघ को भी धन्यवाद देना चाहती हूं जिसका मैंने प्रतिनिधित्व किया है जिसमें एयर इंडिया, कर्नाटक और पांडिचेरी शामिल हैं और उनके द्वारा दिए गए सभी समर्थन के लिए मैं आभारी और खुश हूं.’

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.